सहरसा मंडल कारा में न्याय की गुहार हेतु जलोपा प्रदेश महासचिव सुमन सौरभ @सुमन वर्मा ने आमरण अनशन शुरू किया है। सुमन सौरभ ने मंडल कारा, सहरसा के कारा अधीक्षक को बंदी आवेदन पत्र द्वारा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी श्री प्रभाकर तिवारी, सर्किल इंस्पेक्टर श्री राजमणि,पुलिस अवर निरीक्षक श्री द्रवेश कुमार, मंगलेश कुमार सहित अन्य पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुख्य न्यायिक दंडधिकारी,सहरसा को मुकदमा दर्ज करने हेतु दिनांक 29.10.2020 को लिखित दिया था।

लेकिन दिनांक 05.11.2020 तक कारा अधीक्षक द्वारा आवेदन को अग्रसारित नहीं किया गया था। जिसके विरोध में जनतांत्रिक लोकहित पार्टी के प्रदेश महासचिव सुमन सौरभ ने जिला पदाधिकारी,सहरसा के नाम से कारा अधीक्षक को आवेदन दे कर 06.11.2020 से आमरण अनशन की घोषणा कर चुके हैं। सुमन सौरभ के अधिवक्ता को भी सहरसा पुलिस कप्तान के आदेश पर मंडल कारा के पास से जबरन उठाकर केस से हटने की भी धमकी दी गई, अधिवक्ता ने जिला एवं सत्र न्यायाधीश, बार काउंसिल ऑफ इंडिया और पटना हाईकोर्ट के न्यायाधीश को शिकायत भेजा है। साथ ही चुनाव आयोग को भी शिकायत प्रेषित किया गया है। सुमन सौरभ ने पूर्व में तत्कालीन थानध्यक्ष श्री राजमणि का भ्रष्ट आचरण का ऑडियो वायरल किया था, जिससे डीआईजी द्वारा उन्हें निलंबित कर दिया गया था, पर जांच को दबाकर फिर से सर्कल इंस्पेक्टर का पदभार सौंप दिया है। सुमन सौरभ ने पूर्व में ही सभी वरीय पदाधिकारी को आवेदन दे कर निष्पक्ष जांच की मांग की थी, पर सब अभी अधर में लटका हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here