भारत से नेपाल की तना तनी लगातार बढ़ती जा रहे है।इसका सबसे ज्यादा नुकशान बिहार को उठाना होगा।दरसरल नेपाल की और पड़ने वाले बैराज के मार्ग पर नेपाल की और से बेरियर लगाया गया है।

जल संसाधन मंत्री संजय झा ने ANI से कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि वहां मैटिरियल ले जाने,काम करने, आवाजाही में वो(नेपाल) दिक्कत कर रहे हैं। मैं भारत सरकार के MEA को सारी स्थिति बताते हुए पत्र लिख रहा हूं। अगर वहां तक नहीं पहुंचे तो बिहार के ज्यादातर हिस्से बाढ़ में डूब जाएंगे।

उन्होंने कहा की वाल्मिकी नगर के गंडक बराज के करीब 36 गेट हैं और 18 गेट नेपाल की तरफ हैं, वहां जो बाढ़ से निपटने का सामान है उसमें उन्होंने बैरियर लगा रखे हैं जो आजतक कभी नहीं हुआ। आगे बाढ़ का समय है उस तरफ बिहार सरकार ही जाकर बांध को ठीक करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here