गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में भारत के मारे गए 20 जवानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह खुलासा उनके साथ इस हद तक क्रूरता हुई थी कि 3 सैनिकों के शव को पहचानने में भी मुश्किल हो रही थी।

फोटो लेने की थी मनाही


प्राम्भिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि चीनी सैनिकों ने डंडे में नुकीले तार लपेटकर सैनिकों पर हमला किया था।अधिकारियों का कहना है कि यह झड़प 5 से 6 घँटे चली।
पोस्टमार्टम के समय अधिकारियों को फोटो लेने की मनाही थी।
सेना के अधिकारी ने इकनॉमिक टाइम्स अखबार को बताया कि सभी जवाना का पोस्टमार्टम लेह स्थित एसएनएम हॉस्पिटल में हुई।

12 जवान ठंड लगने और दम घुटने से तोड़ा दम


अधिकारी ने अखबार को बताया कि कर्नल संतोष बाबू और तीन जवानों पर चोट के निशान नही थे उनके सर पर चोट थी वही करीब 12 सैनिकों ने ठंड लगने और दम घुटने के चलते दम तोड़ दिया था।उन्होंने बताया कि तीन जवानों की मौत शायद पानी मे डूबने या ठंड लगने से हो गई वहीं तीन जवानों की गर्दन पर चाकू या किसी नुकीली चीज से काटे जाने का निशान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here